The Vice President, Shri M. Venkaiah Naidu at the inaugural session of the Smart City Expo India 2018, in Jaipur, Rajasthan on September 26, 2018. The Minister of State for Housing and Urban Affairs (I/C), Shri Hardeep Singh Puri, the Minister for Urban Development, Rajasthan, Shri Shrichand Kriplani, the Minister for Minority Affairs, Rajasthan, Shri Arun Chaturvedi, the Governor of South Australia, Mr. Hieu Van Le AC and other dignitaries are also seen.

उपराष्ट्रपति ने स्मार्ट सिटी एक्सपो इंडिया 2018 का उद्धाटन किया

समाज में हाशिए पर चल रहे वर्गों की कमजोरियों को ध्यान में रखा जाना चाहिए; उपराष्ट्रपति ने स्मार्ट सिटी एक्सपो इंडिया 2018 का उद्धाटन किया
26 SEP 2018 उपराष्ट्रपति श्री एम. वैंकेया नायडू ने कहा है कि यातायात की समस्या पर अंकुश लगाने के लिए पैदल यात्रीपथ गैर मोटर क्षेत्र समय की आवश्यकता है। उपराष्ट्रपति आज जयपुर, राजस्थान में स्मार्ट सिटी एक्सपो इंडिया 2018 के उद्धाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर आवास और शहरी (स्वतंत्र प्रभार) मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी, राजस्थान के शहरी विकास मंत्री श्री श्रीचंद कृपलानी, राजस्थान के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री श्री अरुण चतुर्वेदी, दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के गवर्नर श्री हीयू वैन ली एसी तथा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

उपराष्ट्रपति ने शहरी योजनाकारों से गरीबों, प्रवासियों तथा महिलाओं की आजीविका, सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा और कौशल विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देने को कहा और साथ में यह भी कहा कि समाज में हाशिए पर चल रहे वर्गों की कमजोरियों पर भी ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि स्मार्ट शहरों के तहत संचालित होने वाली हर परियोजना के मूल में सामाजिक विकास होना चाहिए।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि आपको ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने, शहरी कचरे की रीसाइक्लिंग और भूमि उपयोग को बढ़ावा देने की आवश्यकता के अलावा शहरों में वायु, जल, मिट्टी और ध्वनि प्रदूषण की चिंताओं को दूर करना होगा। उपराष्ट्रपति ने गुणवत्तापरक शिक्षा, स्वास्थ्य, गैर-कृषि और संबद्ध उद्योगों में आय के अवसर के माध्यम से आस-पास के गांवों को स्मार्ट गांवों के रूप में विकसित करने की आवश्यकता पर बल दिया, तांकि शहरों में आबादी के असमान प्रवाह को रोका या सीमीत किया जा सके।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि गांवों को नजरअंदाज कर भारत एकतरफा विकास नहीं कर सकता है। उन्होंने आगे कहा कि गांवों को सड़क, बिजली और डिजिटल कनेक्टिविटी प्रदान करना शीर्ष प्राथमिकता होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि डिजिटल प्रौद्योगिकी के माध्यम से गांवों को अपने उत्पादन के लिए बड़ा बाजार मिल सकता है और सड़कों से आवाजाही सुनिश्चित हो सकती है।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि ट्रैफिक जाम की समस्या तथा वाहन प्रदूषण हमारे शहरों की प्रमुख समस्या बन गया है और इस पर गंभीरता से ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने आगे कहा कि हमारे शहरों में बड़े पैमाने पर ईंधन की खपत हो रही है क्योंकि लोग सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा देने की बजाय ज्यादा ईंधन खर्च करने वाले निजी वाहनों को पसंद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम इस प्रवृत्ति को जारी रखने की अनुमति नहीं दे सकते हैं और बड़े पैमाने पर सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा देने के लिए एकजुट तरीके से कार्य करने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com