प्रशिक्षण से प्रवर्धन’ विषय पर आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला

शासकीय सेवकों के लिए प्रशिक्षण महत्वपूर्ण : श्री अजय सिंह
छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी में ‘प्रशिक्षण से प्रवर्धन’ विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न
रायपुर, 14 नवम्बर 2018 मुख्य सचिव श्री अजय सिंह ने आज छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी निमोरा में ‘प्रशिक्षण से प्रवर्धन’ विषय पर आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ करते हुए शासकीय सेवकों के लिए प्रशिक्षण को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि समय तेजी से बदल रहा है। नई टेक्नोलॉजी से शासकीय काम-काज की पूरी व्यवस्था में परिवर्तन आया है। सरकारी कार्यो और दायित्वों को पूरी दक्षता से पूरा करने के लिए अधिकारियों-कर्मचारियों का नियमित अंतराल में प्रशिक्षण होना चाहिए। उन्होंने प्रशिक्षण में सुधार की आवश्यकता पर जोर दिया और कहा कि एक दिवसीय कार्यशाला राज्य की प्रशिक्षण नीति को प्रभावी बनाने में कारगर साबित होगी। उन्होंने कहा कि कार्यशाला में व्यापक चर्चा के बाद छत्तीसगढ़ की प्रशिक्षण नीति में सुधार के लिए उपयोगी सुझाव मिलेंगे।

एक दिवसीय कार्यशाला के तीन सत्रों में ‘आदर्श प्रशिक्षण वातावरण’, प्रशिक्षण विधि तथा प्रशिक्षण सुझाव का मूल्यांकन विषय पर विस्तार से चर्चा की गई। कार्यशाला में संबंधित विभागों के प्रशिक्षण से जुड़े अधिकारी, विभागों के नोडल अधिकारी, अतिथि संकाय सदस्य और प्रशिक्षित अधिकारी उपस्थित थे। कार्यशाला में यशदा पुणे, मध्यप्रदेश प्रशासन अकादमी भोपाल, नरोन्हा सेंटर आॅफ गुड गवर्नेंस के विषय-विशेषज्ञ श्री एच.आर. रहमान, डॉ. ज्ञानेन्द्र बड़गैय्या, डॉ. दीपा देशपाण्डे, छत्तीसगढ़ के पूर्व प्रधान मुख्य वन संरक्षक डॉ. आर.के. सिंह सहित श्री चन्द्रहास बेहार, श्री पी.पी. सोती, स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव डॉ. गौरव द्विवेदी भी शामिल हुए। प्रशासन अकादमी की महानिदेशक श्रीमती रेणु पिल्ले और संचालक श्री आलोक अवस्थी ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यशाला के उपरांत वित्त सेवा के अधिकारियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com