बालोद : निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के संबंध में प्रशिक्षण सात सितम्बर को

बालोद, 05 सितम्बर 2018 – कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने बताया कि विधानसभा निर्वाचन 2018 निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के अंतर्गत गठित सहायक व्यय प्रेक्षक, वीडियो निगरानी टीम, वीडियो अवलोकन टीम, लेखा टीम, स्थैतिक निगरानी टीम, नियंत्रण कक्ष एवं उड़नदस्ता टीम के अधिकारियों, कर्मचारियों का प्रशिक्षण संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में सात सितम्बर 2018 को प्रातः 11 बजे आयोजित की गई है। कलेक्टर ने सर्व संबंधितों को बैठक में उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं।

बालोद : कलेक्टर ने दिलाई ‘‘वचन मतदान का‘‘ शपथ
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने आज नवीन टाऊन हॉल में आयोजित महिला मतदाता जागरूकता कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को ‘‘वचन मतदान का‘‘ शपथ दिलाई। कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं ने शपथ लिया कि ‘‘मैं आज शपथ ग्रहण करती हूॅ कि आगामी चुनाव में मतदान कर अपने कर्तव्य का निर्वहन जिम्मेदारीपूर्वक करूंगी। साथ ही अपने परिवार के अन्य सदस्यों, मित्रगणों एवं आसपास के लोगोें को मतदान हेतु प्रेरित कर निर्वाचन कार्य में सहभागिता प्रदान करूंगी।

कलेक्टर ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि 18 वर्ष पूर्ण कर चुके जिले के शतप्रतिशत मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने मतदाता जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है। उन्हांेने कहा कि सभी का दायित्व है कि लोेकतंत्र की मजबूती के लिए अपने मत का उपयोग जरूर करें। कलेक्टर ने कहा कि आप लोगों को अपने परिवार, आसपास तथा गॉव के लोगों को भी मतदान के लिए जागरूक करना है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार कटारा और पद्मश्री शमशाद बेगम ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री आर.के.जाम्बुलकर, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री सी.एस.मिश्रा सहित अन्य अधिकारी और बड़ी संख्या में महिलाएॅ उपस्थित थी।

बालोद : कलेक्टर ने ली मूर्तिकारों और पटाखा व्यवसायियों की बैठक
कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल आज संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में जिले के मूर्तिकारों और पटाखा व्यवसायियों की बैठक ली। उन्होंने मूर्ति निर्माण, स्थापना एवं विसर्जन के संबंध में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल से जारी आदेश के अनुसार आम जनता की जागरूकता से संबंधित बिंदुओ पर चर्चा की। कलेक्टर ने कहा कि गणेशोत्सव, दुर्गोत्सव में प्रतिमाएॅ स्थापना की जाती है तथा पर्व समाप्ति पर इनका विसर्जन नदियों, तालाबों व अन्य जलस्त्रोंतो में किया जाता है। मूर्ति विसर्जन से जलस्त्रोतों की गुणवत्ता प्रभावित होती है, जिससे जलीय जीव-जंतुओं की जान को खतरा और जल प्रदूषण की स्थिति भी उत्पन्न होती है।

कलेक्टर ने मूर्ति निर्माण, स्थापना एवं विसर्जन के बारे में कहा कि मूर्तियॉ प्राकृतिक मिट्टी से ही बनाई जाए। मूर्ति निर्माण में प्लास्टर ऑफ पेरिस एवं बेक्ड क्ले, सिंथेटिक रंगो एवं डाइस आदि से सजी हुई प्रतिमाओं का उपयोग नही किया जाए। मूर्तियों की ऊॅचाई पॉच फीट से अधिक न हो, मूर्तियों की स्थापना स्थानीय प्राधिकारियों द्वारा विनिर्दिष्ट स्थानों पर उनसे अनुमति प्राप्त कर किया जाए। जिला प्रशासन द्वारा तैयार किए गए रूट चार्ट में उल्लेखित मार्गों से ही विसर्जन की कार्यवाही की जाए। नदी और तालाब में अस्थायी पॉड या बन्ड का निर्माण कर मूर्ति एवं पूजा सामग्री, सजावट की वस्तुएॅ इत्यादि मूर्ति विसर्जन के पूर्व अलग कर ली जाए तथा उसका उपवहन उचित तरीके से किया जाए। जिससे नदी या तालाब में प्रदूषण की स्थिति नियंत्रित हो सके।

कलेक्टर श्रीमती कौशल ने पटाखा व्यवसायियों को घ्वनि प्रदूषण से संबंधित माननीय उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ के आदेश को विस्तारपूर्वक बताया और उसका पालन करने की बात कही। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ कोलाहल अधिनियम 2000 के तहत रात 10 बजे से सुबह 06 बजे तक किसी भी प्रकार का ध्वनि प्रदूषण पूर्णतः प्रतिबंधित है। ध्वनि प्रयोग की सीमा 10 डेसीबल से 75 डेसीबल तक निर्धारित है। साइलेंस जोन व रात के समय प्रेशर हार्न व पटाखा पूर्णतः प्रतिबंधित है। बैठक में अपर कलेक्टर श्रीमती तनुजा सलाम, एस.डी.एम. श्री हरेश मण्डावी, नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारी सहित मूर्तिकार और पटाखा व्यवसायी मौजूद थे।

बालोद : विधानसभा निर्वाचन 2018 : कलेक्टर ने किया स्ट्रांग रूम का निरीक्षण
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने जिले में आगामी विधानसभा निर्वाचन कार्य को निष्पक्ष, स्वतंत्र एवं शंातिपूर्ण सम्पन्न कराने आज पुलिस अधीक्षक श्री आई.के.एलेसेला के साथ स्ट्रंाग रूम हेतु लाइवलीहुड कॉलेज का निरीक्षण कर जायजा लिया। उन्होंने वहॉ विधानसभावार स्ट्रंाग रूम तथा मतगणना कार्य हेतु कमरों का चयन कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। कलेक्टर ने आब्जर्वर हेतु कक्ष, कम्प्यूटर कक्ष आदि हेतु कमरों का निरीक्षण किया और सभी आवश्यक कार्य जल्द पूरा कराने के निर्देश दिए। उन्होंने लाईवलीहुड कॉलेज के चारों ओर चहारदीवारी भी शीघ्र ही निर्माण कराने के निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार कटारा, अपर कलेक्टर श्रीमती तनुजा सलाम, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री बी.एस. गजपाल, एस.डी.एम. श्री हरेश मण्डावी और लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री एम.एल.उईके सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com